रविवार, 7 अक्तूबर 2018

ॠतु राज

                                           
खुशीयों  का  संदेश  समेटें ,  
ॠतु  राज  धरा  पर  आये,
तरुओं   ने  नव  पल्लव  डालें,
 मुस्कान   धरा  की  खिल  उठी,
चिङियों  ने  भी    राग  लगाई,
मधुर  स्वर  में   ईठलाई  पवन,
मीठा  सा   संगीत   सुनाया ,
भँवरों   ने   भी   प्रीत   जताई ,
प्रीत  रंग  में   खिली   धारा,
पीला  आँचल  ख़ूब  लहराया,
प्रीत  रंग   में   नील  गगन,
हर्षोल्लास  की  बदरी  छिटकी,
खुशीयों  का  संदेश  समेटें ,
ॠतु  राज  धरा  पर  आये ।